वन्दे भारत मातरम्

वन्दे भारत मातरम्

आज रविबार के दिन चार सैनिक शहीद हुए ,सोमबार को यह शंख्या 8 हो गई। आप सोचेंगे कि आतंकवादियों के साथ लड़ाई में सैनिकों का शहीद होना एक स्वभाविक घटना है।लेकिन एसा नहीं हैं। ये जो सैनिक लगातार शहीद हो रहे हैं इन सब के लिए सेकुलर गिरोह जिम्मेबार है। क्योंकि जब भी सैनिक आने बाले खतरे को भांप कर विना कोई नुकसान उठाए मुसलिम आतंकवादियों को मार गिराते हैं तो ये सेकुलर गिरोह इन आतंकवादियों को निर्दोष मुसलमान बताकर बहादुर सैनिकों के विरूद्ध कार्यबाही की मांग उठाता है। अक्सर ऐसा देखा गया है कि अक्सर ऐसे बहादुर सैनिकों को कार्यबाही का सामना करना पड़ता है। अगर सेना ऐसे सैनिकों को निर्दोष पाती है तो भी सेकुलर सरकार के माध्यम से दबाब बनाकर आतंकवादियों को मार गिराने बाले जांबाजों के बिरूद्ध कार्यबाही अमल में लाई जाती है। पहले ये सब पुलिस के साथ किया जाता था अब वही सब सेना के साथ करने के प्रयत्न किए जा रहे हैं।

       आम जनता को समझना चाहिए कि ये जो सैनिक हैं बो अपने निजी स्वार्थ के लिए वहां नहीं हैं । ये सैनिक वहां पर देश और समाज के लिए कुर्वानियां दे रहे हैं । अतः इन सैनिकों द्वारा किसी भी आतंकवादी को मार गिराने पर प्रश्न उठाना इन बहादुर सैनिकों का मनोबल तोड़ने के समान है। इन सैनिकों के किए पर प्रश्न उठाने का काम सिर्फ गद्दार ही कर सकते है कोई देशभक्त नहीं। अगर मनोबल तोड़ने का ये काम सिर्फ एक आध बार हो तो हम ये मान लेते कि ये भूलबस हो गया लेकिन क्योंकि ये काम बार-बार किया जा रहा है इसलिए ये सपष्ट होता जा रहा है कि सेकुलर गिरोह मुसलिम आतंकवादियों के साथ मिला हुआ है ।

       हम ये सब सिर्फ आरोप लगाने के लिए नहीं लिख रहे हैं।हमारे पास इसके सपष्ट प्रमाण हैं।

·        सेकुलर गिरोह की सरकार सता सम्भालते ही मुसलिम आतंकवादियों के लिए खौफ बन चुके कानून पोटा को हटाती है और अगले चार वर्ष तक कोई सख्त कानून न बनाकर आम नागरिकों से लेकर सुरक्षबलों  तक की जान को न केबल खतरे में डालती है वल्कि जान-माल को वे हिसाब नुकसान पहुंचाती है।

·        माननीय सर्वोचन्यायलय के आदेशों का पालन करने की जगह सरकार मुसलिम आतंकवादी अफजल को फांसी से बचाने के हर सम्भव सफल प्रयास करती है। इन्हीं प्रयासों के परिणामस्वरूप आधा दर्जन सैनिकों का कातिल आज भी जिन्दा है व शहीद हुए परिबारों को चिड़ा रहा है।

·        जब विनय कटियार व स्वर्गीय साहिब सिंह बर्मा जी ने जनता द्वारा आतंकवादियों को मार देने पर बहादुर नागरिकों को प्रति आतंकवादी एक लाख रूपया देने की घोषणा की तो गद्दार सैकुलर गिरोह की सरकार ने उन पर देशद्रोह का मुकद्दमा किया।

·        ये उसी सेकुलर गिरोह की सरकार है जिसने लौह पुरूष लाल कृष्ण अडबानी जी द्वारा सिमी जैसे आतंकवादी दैंग पर प्रतिबन्ध लगाने का विरोध किया था। अडबानी जी पर बार-बार मुसलिम बिरोधी होने का आरोप लगाकर व प्रतिबन्ध को मुसलमानों के विरूद्ध बताकर सिमी के आतंकवादियों का खुला समर्थन किया था। 2004 सता में आने के बाद इन आतंकवादियों को खुली छूट देकर 2006 से 2008 तक हजारों हिन्दुओं के जान माल को नुकसान पहुंचाया।इस दौरान जितने भी बम्म विस्फोट हुए बो सब के सब इन्हीं सिमी के आतंकवादियों ने करबाय।  

·        जब सारे देश में मुसलिम आतंकवादी हिन्दुबहुल क्षेत्रों व मन्दिरों पर हमला कर हिन्दुओं को मौत के घाट उतार रहे थे सेकुलर गिरोह की इस सरकार ने देश का ध्यान मुसलिम जिहादी आतंकवादियों से हटाने के लिए साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर व लैफ्टीनैंट कर्नल पुरोहित जैसे सन्यासियों व सैनिकों को जेल में डालकर मनघड़ंत आरोप लगाकर ये सिद्ध करने का असफल प्रयास किया कि आतंकवादी हिन्दु भी हैं। जब इन सब के विरूद्ध सरकार कोई प्रमाण न जुटा पाई तो चुनाब तक इनको जेल में रखने के लिए इन पर झूठे आरोप लगाकर मकोका लगा दिया।

·        इस सेकुलर गिरोह की सरकार के एक सहयोगी समाजबादी पार्टी के अमर सिंह ने शहीद मोहन चन्दशर्मा जी की शहीदी का अपमान करने का देशद्रोह किया।सरकार ने न केबल इस गद्दार अमर सिंह के विरूद्ध कोइ कार्यबाही नहीं की बल्कि कई गद्दार कांग्रेसियों ने भी अमर सिंह का समर्थन किया। जिस देशभक्त कांग्रसी सत्ब्रत चतुर्वेदी जी ने गद्दार अमर सिंह का विरोध किया और शहीद का अपमान करने पर उसे पागल करार दिया उसी सत्यब्रत चतुर्बेदी जी को कांग्रेस के गद्दार नेताओं ने कांग्रेस के प्रवक्ता पद से हटा दिया।

·        मुस्लिम आतंकवादियों द्वारा मुम्बई पर हमला कर सैकड़ों लोगों को मौत के घाट उतारा।मुसीबत की इस घड़ी में भी सेकुलर गिरोह की सरकार का एक मन्त्री पाकिस्तान की बोली बोल कर हिन्दुओं को आतंकवादी करार देकर मुसलिम आतंकवादियों का बचाब करता रहा ।भारत विरोधी इस सरकार ने इस देशद्रोही को सजा देने के बजाए इस गद्दार का साथ दिया।  

सरकार के इन्हीं मुसलिम आतंकवाद समर्थक कदमों का परिणाम है कि आज भारत की सुरक्षा प्रणाली सरकार द्वारा मुसलिम आतंकवादियों के सहयोग से इतनी कमजोर कर दी गई है कि सरकार खुद भारत में क्रिकेट मैच तक करबाने का साहस नहीं जुटा पा रही है। जरा सोचो जिस सरकार ने पांच वर्ष में भारत की सुरक्षा ब्यबस्था को इस तरह तार-तार किया क्या बो सरकार आपके बोट की हकदार है। नहीं न। ऐसे गद्दार सेकुलर गिरोह को बोट देना अपने पैर पर कुलहाड़ी मारने जैसा है।

       अतः आप सब मिलकर भाजपा को पूर्ण बहुमत देकर बर्तमान भारत के लौहपुरूष लालकृष्ण अडबाणी जी को  प्रधानमंत्री बनाकर देश को इन सेकुलर गद्दारों व गुलाम प्रधानमंत्री से मुक्त करबाकर अपनी व अपनी आने बाली पिड़ियों की सुरक्षा पक्की करें बर्ना अखणड भारत के इस हिस्से भारत के हालात भी अखणड भारत के दूसरे हिस्से पाकिस्तान की तरह बद से बदतर होते चले जांयेगे जैसे पिछले पांच बर्षों में हुए हैं ।

      

      

 

Advertisements

आपके कुछ न कहने का मतलब है आप हमसे सहमत हैं

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: