धर्मनिर्पेक्ष गठबन्धन का भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी आतंकवादी चेहरा एक वार फिर वेनकाव हुआ

धर्मनिर्पेक्ष गठबन्धन का भारतविरोधी- आतंकवादी चेहरा एक वार फिर वेनकाव हुआ

हम एक वार नहीं कई वार देशभक्त भारतीयों का ध्यान इस वात की ओर खींच चुके हैं कि खुद को सेकुलर कहने वाला गठबन्धन धर्मनिरपेक्षता की आड़ में छुपा हुआ आतंकवादियों का गिरोह है। इस गिरोह का एक-एक कदम चीख-चीक कर कह रहा है कि इस गिरोह का भारतीयता, मानबता या फिर सर्वधर्मसम्भाव से कोई रिस्ता नहीं । यह गिरोह लगातार भारत में योजनाबद्ध तरीके से लोगों को सांप्रदायिक आधार पर बांट कर भारत की सरवधर्मसम्भाव से सिंचित भुगौलिक, सांस्कृतिक व अद्यातमिक एकता को तहस नहस करने में दिन-रात एक किए हुए है। अपने इसी उद्देश्य की पूरती के लिए यह गिरोह देश में कानून भारतीयों के लिए बनाने के बजाए सांप्रदाय, जाति, क्षेत्र, भाषा के आदार पर बना रहा है।बार-बार अल्पसंख्याकवाद का उपयोग देशद्रोह को आगे बढ़ाने के लिए हथियार के रूप में कर रहा है। यह गद्दारों का सेकुलर गिरोह जहां एक तरफ आतंकवादियों को कानून के संकजे से बचाने के लिए आतंकवादविरोधी कानूनों को कमजोर व समाप्त करता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ इन आतंकवादियों से भारतीयों की रक्षा के लिए लामबंद हो रहे समाजिक व सैनिक देशभक्त क्रांतिकारी संगठनों को आतंकवादी व सांप्रदायिक कहकर बदनाम करने का काम आतंकवादियों के साथ मिलकर कर रहा है।इस सेकुलर गिरोह में न केवल राजनितिक दल(कांग्रेस,समाजवादी पार्टी,वांमपंथी,राजेडी,एनसीपी,मुसलिम लीग,पीडीपी,नेसलल कान्फ्रैंस,एलजेपी) सामिल हैं पर साथ ही बहुत से आदमखोर मानबाधिकार संगठन, गैर सरकारी संगठन(एन.जी.ओ),समाचार चैनल (खासकर IBN7, NDTV, INDIATV) व समाचारपत्र,लेखक और फिल्म इंडसटरी से जुड़े लोग भी सामिल हैं। यह गिरोह आज तक कई बार वेनकाव हो चुका है पर सरकार व संचार साधनों पर अपनी पकड़ के कारण ये आतंकवादियों का सेकुलर गिरोह हर वार वार जनता के आक्रोश से अपने आप को बचाने में संमर्थ रहा है। हमें पूरा विशवास है कि जल्दी ही देश की शांतिप्रिए जनता इस भारतविरोधी गिरोह की असलियत को पहचाकर इस गिरोह को इसके अंजाम तक पहुंचाएगी।

हमने आज तक जो भी लिखा है वो प्रमाणिकत से लिखा है विना किसी भय, कूटनिती, रागद्वेश लोभ-लालच के।इसी के परिणामस्वारूप इस गिरोह को भ्रमवश सेकुलर मानने वाले भ्रमित हिन्दू भी भ्रम से मुक्त होकर इस गिरोह की असलियत को उजागर करने के काम में हाथ वंटाने लग पड़े हैं । जिस दिन हम इस गिरोह की भारत-विरोधी आतंकवाद समर्थक असलियत आम लोगों को समझाने में समर्थ हो जायेंगे उस दिन इस गिरोह का एक भी आतंकवादी व इन आतंकवादियों का एक भी समर्थक जिंदा नहीं बचेगा। वस जरूरत है तो इस गिरोह को यथाशीघ्र पूर्णरूप से वेनकाव  करने की ।

इसी गिरोह को वेनकाव करने के लिए हमने नकली धर्मनिर्पेक्षता(जो आनलाइन उपलब्ध है) नामक पुस्तक लिखी जिसमें हमने इस गिरोह के हिन्दूविरोधी देशविरोधी कुकर्मों को उजागर कर इनकी असलियत जनता के सामने रखी । इस पुस्तक में हमने सपष्ट कहा था कि ये गिरोह न केवल आतंकवादियों की मदद कर रहा है पर खुद भी आतंकवादी गतिविधियों  में सक्रिए है। इसी पुस्तक में हमने लिखा था कि अबदुल रहमान अन्तुले, महेस भट्ट,अबु हाजमी,माजिद मेनन व विनोद दुआ जैसे लोग आतंकवादी गतिविधियों में सीधे-सीधे सामिल हैं।

आप सब जानते हैं कि महेश भट्ट का बेटा राहुल भट्ट मुसलिम आतंकवादी हेडली उर्फ हैदर अली को भारत में आतंकवादी गतिविधिया फैलाने में सहायता करने का देषी पाया गया है ये बात अलग है कि क्योंकि महेशभट्ट खुद इस हिन्दूविरोधी-देशविरोधी गिरोह का प्रमुस सदस्या है तथा देश व प्रदेश में इसी सुलर गिगोह की सरकार होने के कारण इस आतंकवादी राहुल भट्ट को बचोने की कोशिस की जा रही है ।

आज आपको ये भी पता चल चुका होगा कि समाजपार्टी के विधायक अबु हाजमी व कांग्रेस के भूतपूर्व विधायक अबदुल सलाम ने वटला हाउस में सुरक्षा बलों पर हमला कर स्वर्गीय मोहन चन्द शर्मा जी को शहीद करने वाले आतंकवादियों को न केवल पैसे दिए पर साथ ही इन दोनों आतंकवादी नेतों ने इन आतंकवादियों को  सुरक्षाबलों से बचने के लिए नेपाल भाग जाने को भी कहा।

अबु हाजमी वो आतंकवादी नेता है जो 1993 में मुसलिम आतंकवादियों द्वारा किए गए हमले में भी सामिल था लेकिन उस वक्त भी सेकुलर गिरोह ने अपने प्रभाव का प्रयोग कर इस आतंकवादी को बचाने में सफलता हासिल की थी। यही आतंकवादी मुम्बई में मुसलिम आतंकवादी दाऊद इब्राहीम की हिन्दूविरोधी गतिविधियों को सेकुलर गिरोह का सरंक्षण दिलबाता है मतलब भारत में दाऊद इब्राहीम जैसे खूंखार मुसलिम आतंकवादी की गतिविधियों को आगे बढ़ाने में भी सेकुलर नेताओं का ही हाथ है।

रही कांग्रेस की बात तो इस दल का तो इतिहास ही मुसलिम गद्दारों को जन्म देने का है जिस तरह आज इस कांग्रेस ने अबदुल सलाम जैसे आतंकवादी को जन्म दिया है इसी तरह इस कांग्रेस ने मुहम्मद अली जिन्ना जैसे गद्दार को जन्म दिया था। इसी कांग्रेस ने बर्तमान में आतंकवादी संगठन पीडीपी के अध्यक्ष को जन्म दिया था। इसी गद्दार व ततकालीन एनसी सरकार व मुसलिम आतंकवादियों ने मिलकर 60000 हिन्दूओं को कत्ल कर लाखों हिन्दूओं को अपना घरबार छोड़ने पर मजबूर किया

मुम्बई पर 2008 का हमला भी इसी कांग्रेस सरकार के सहयोग व इसके आतंकवादीनेता अबदुल रहमान अन्तुले के सहयोग से अनजाम दिया गाया ।यही बजह है कि आज तक उन गद्दारों के नाम सार्वजनिक नहीं किए गए हैं जो भारतीय नागरिक हैं क्योंकि मुम्बई पर हमला करने वाले आतंकवादी अबदुल रहमान अन्तुले के घर को अपने बेश के रूप में उपयोग कर रहे थे।यही बजह थी कि हमले के दौरान ही जांच को उल्टी दिशा देने के लिए सेकुलर गिरोह ने ये अफवाह फैला दी कि ये हमला हिन्दूओं ने किया है जबकि असलियत सबके सामने थी कि मुसलिम आतंकवादीयों ने ये हमला अबदुल रहमान अन्दुले के दिशा निर्देशों के अनुसार किया था। इसीलिए अबदुल रहमान अन्तुले ने कहा था कि ये मुसलिम आतंकवादी हेमंत करकरे को मारने नहीं आए थे । वेचारा हेमन्त करकरे उन मुसलिम आतंकवादियों को बचाने के लिए दिन-रात एक किए हुए था जो हिन्दूक्रांतिकारियों के निशाने पर थे (हम कह सकते हैं कि हेमन्त जी सरकारी नौकर होने के कारण सरकारी आदेशों का पालन कर रहे थे।) उन्हीं मुसलिम आतंकवादियों ने शहीद हेमन्त करकरे जी पर हमला कर दिया।हमारे सब देशभक्त सुरक्षा अधिकारियों को इस वात से सबक लेकर किसी भी मुसलिम आतंकवादी की रक्षा हिन्दू क्रांतिकारियों से नहीं करनी चाहिए क्योंकि ये मुसलिम आतंकवादी आज तक अपने बाप के नहीं हुए तो ये देश के क्या होंगे। उल्टा सुरक्षाबलों को आतंकवाद से निपटने के लिए हिन्दूक्रांतिकारियों को सहायता देनी चाहिए व जरूरत पड़ने पर सहायता लेनी भी चाहिए।क्योंकि यही देस हित  में है। 2001 में लोकतन्त्र के मन्दिर पारलियामेंट पर हमला भी इसी सेकुलर गिरोह ने करवाया था । यही बजह है कि तरह-तरह के हथकण्डे अपनाकर इस सेकुलर गिरोह ने एक को छुड़वा लिया जबकि दूसरे को माननीय सर्वोच न्यायालय द्वारा 2006 में सुनवाई गई फांसी की सजा को ये सेकुलर गिरोह आज तक रेके हुए है।

1993 के मुम्बई हमले में भी इसी कांग्रेस के सबसे बड़े सेकिलर नेता सुनील दत्त का बेटा संजय दत सामिल था । साथ में अबु हाजमी व माजिद मेनन जैसे गद्दार।

जब से सेकुलर गिरोह के मौथपीस महेसभट्ट के लाडले आतंकवादीपुत्र का असलियत जनता के सामने आई है तब से माजिद मेनन व गौतम नबलखा जैसे गद्दार भूमिगत हो गए हैं अब उनकी जगह सेमुयल नामक सेकुलर आतंकवादी लने लगा है आगो जागरूकता के इस अभियान को आगे बढ़ाकर देश को  आतंकवादियों से मुक्त करवायें बरना अगर ये सेकुलर गिरोह इसी तरह इन  आतंकवादियों की सहायता कर आगे बढ़ता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब भारत की दुर्गति भी अफगानीस्थान जैसी होगी।

 

       

 

     

 

Advertisements

आपके कुछ न कहने का मतलब है आप हमसे सहमत हैं

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: