Monthly Archives: मार्च 2012

आओ शहीद जवानों को श्रधांजली अर्पित करते हुए प्रण करें कि भारतविरोधी आतंकवादियों और उनके समर्थक सेकुलर गद्दारों को जब तक भारत से नेसतनानबूद नहीं कर दिया जाता तब तक हम चैन से नहीं बैठेंगे…

देखो ये प्रश्न भारत के अस्सतित्व का है इसलिए इस प्रश्न का जबाब भी हम सब भारतवासियों को मिलकर ही निकालना है। भारतविरोधी आतंकवादियों के हाथों अगर भारतीयों का कत्लयाम यूँ ही वे रोक टोक चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब हमें यहूदियों की तरह वेघर होकर दुनियाभर में ठोकरें खाने को मजबूर होना पड़ेगा। समय की जरूरत है कि हम सब अपने हर तरह के छेटे-मोटे मतभेद भुलाकर देशभक्त संगठनों के साथ एकजुट होकर भारतीय सेना को सहयोग देकर भारतविरोधियों का सर्वनाश सुनिश्चित करें।

पिछले कल यानिके 27/03/12 को जिस तरह से दर्जनों CRPF जवानों का नक्सिलियों द्वारा कत्लयाम किया गया वो इन आतंकवादियों का इस तरह का कोई पहला हमला नहीं …इससे पहले भी ये वामपंथी आतंकवादी पश्चिम वंगाल में वांमपंथी सरकार के सहयोग से इसी तरह दर्जनों जवानों को जिन्दा जला चुके हैं ।

आपने देखा कि किस तरह सांसद और विधायक अपनी पोल खुलने के डर से एकजुट होकर पोलखोलने वालों पर हमला वोल देते हैं लेकिन भारतविरोधी आतंकवादियों द्वारा मारे जा रहे निर्दोष लोगों व सैनिकों को न्याय दिलवाने के लिए जब निर्णायक कार्यवाही की बात आती है तो ये दल कभी एकजुटता नहीं दिखाते ।

मतलब साफ है कि भारतीयों को न्याय पाने के लिए समाजिक सतर पर एकजुट होकर सुरक्षावलों का सहयोग लेकर भारतविरोधी आतंकवादियों के सफाए का अभियाना चलाना होगा वरना हम यूँ ही मरते-तड़पते रहेंगे और ये तथाकथित प्रतिनिधि हमारा खून चूस व वहाकर अपनी तिजोरियां भरते रहेंगे..

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा सम्मवत् 2069 शुक्रवार तदानुशार 23 मार्च 2012 आपके लिए मंगलमय हो…


हम भारतीय नव वर्ष का प्रारम्भ हिन्दू, चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से मानते  हैं क्योंकि ?
• इस तिथि से ब्रह्मा जी ने सृष्टि का निर्माण प्रारम्भ किया।
• मर्यादापुर्षोत्तम भगवान श्री रामचन्द्र जी का इस दिन राज्याभिषेक हुआ।
• इस दिन नवरात्रों का महान पर्व आरम्भ होता है।
• देव भगवान झूले लाल जी का जन्म दिवस ।
• महाराजा विक्रमादित्य द्वारा विक्रमी संवत का शुभारम्भ ।
• राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के संस्थापक डा. केशव बलिराम हेडगेवार जी का जन्म दिवस।
• महर्षि दयानन्द जी द्वारा आर्य समाज का स्थापना दिवस।
• संसार के अधिकतर देशों के बजट की इन्हीं दिनों(पखवाड़े में) शुरूआत होती
इसके अतिरिक्त ये वो वक्त है जब आप के शरीर में नए खून का ज्वार उठता है व आपके आसपास की प्रकृति भी नए कपड़े डालकर नव वर्ष शुरू होने का संकेत दुनिया के समझदार लोगों तक पहुंचाती है…

दूसरी तरफ बहुत से वेसमझ लोग ग्रेगेर्रियन कलैंडर के अनुशार 1 जनवरी को,  एक वयक्ति इसामशीह  के मरनोउपरांत खुशियां मनाकर उसे नव वर्ष का नाम देकर दुनिया को भ्रमित करने की पुरजोर कोशिस करते हुए मानबता का मखौल उड़ाते हैं अब ये आपके अपनी मर्जी है कि
आप अपनी आने वाली पिढ़ीयों को कैसा बनाना चाहते हैं
ऐसा

(अंग्रेजी नव वर्ष पहली जनवरी मनाने वाला)
या फिर ऐसा

(भारतीय नव वर्ष वर्षप्रतिपदा मनाने वाला)
ऐ वतन तेरी कसम ,कुर्बान हो जांएगे हम ।
                                           तेरी खातिर मौत से भी , जा टकरांएगे हम ।
संसकार एक दिन में न बनता है न बिगड़ता है यह एक सतत प्रक्रिया है आप कौन सी प्रक्रिया अपनाकर अपने बच्चों के हवाले करते हैं वही उनका संसकार निर्माण करेगा।
जागो हिन्दू जागो पहचाने अपने अन्दर वह रहे भारतीय खून को और इस खून से जुड़ी महान सच्चाईयों को… जिनमें से नव वर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से प्रारम्भ होता है…. भी एक है
आप सबको हिन्दू नबवर्ष के शुभ अवसर पर एक वार फिर हार्दिक शुभकामनायें
%d bloggers like this: