हिन्दूओ कब तक भागोगे …..

आज हम बहुत दिनों बाद लिख रहे हैं वो भी एक ऐसे विषय पर जो हमारी आत्मा को हर वक्त लहुलुहान करता रहता है …h9अभी हाल ही में मिडीया ने आसाम का मुद्दा उठाया ये सोचकर कि आसाम में होने वाली हिंसा में प्रताड़ित लोग मुसलमान हैं लेकिन जैसे ही मिडीया को ये ऐहसास हुआ कि सच्चाई इसके विलकुल विपरीत है मिडीया ने इस मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालने की बहुत कोशिश  की ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आसाम में बंगलादेशी घुसपैठिएयों (intruders) ने अपनी संख्या भारत-विरोधी हिन्दू-विरोधी काँग्रेस की सहायता से इतनी बड़ा ली है कि अब वो वहां पर स्थानीय निवासी हिन्दू अनुसूचित जनजातियों व धर्मान्तरित हो चुके ईसाईयों को उनके घरों पर हमले कर उनका खून वहाकर ठीक उसी तरह आसाम को हिन्दूविहीन करने की कोशिस कर रहे हैं जिस तरह इन इस्लामिक आतंकवादियों ने इसी भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी काँग्रेस की सहायाता से कशमीरघाटी को हिन्दूविहीन किया था। हिन्दूमिटाओ-हिन्दूभगाओ अभियान

…परिणामस्वारूप आज आसाम के बहुत से क्षेत्र हिन्दूविहीन हो गए हैं व लाखों हिन्दू अपने घर बार छोड़कर राहत सिविरों में रहने को मजबूर हैं और काँग्रेस अपने भारत के इन निर्दोष नागरिकों के साथ खड़े होने के बजाए घुसपैठिए इस्लामिक आतंकवादियों का ये कहकर बचाब कर रही है कि अमेरिका(अमेरिका एसा ईसाई देश है जिसका राष्ट्रपति संविधान के बजाए बाईबल की शपथ लेता है) में भी मैक्सिको से घुसपैठ होती रहती है लेकिन वो ये बताना भूल जाती है कि घुसपैठ करने वाले न तो इस्लामिक आतंकवादी होते हैं और न ही अमेरिका अपने नागरिकों पर अमेरिका में तो क्या दुनिया के किसी भी हिस्से में हमला बर्दास करता है हद तो तब हो जाती है जब काँग्रेस इन जिहादी घुसपैठिए आतंकवादियों के मानबाधिकारों की बात करती है साथ ही पाकिस्तान व वंगलादेश में इस्लमिक आतंकवादियों की हिंसा के सिकार हिन्दूओं व अनुसूचित जातियों से सबन्धित हिन्दूओं खासकर वालमिकीयों को भारत की नागरिकता देने का विरोध करती है।

ये चार लाईनें हमने 2007 में इस लेख में लिखी थीं और आज के हालात देखकर आप समझ सकते हैं कि हमने कितना सी आकलन किया था और हिन्दू इसी तरह असंगठित रहा तो वो दिन दूर नहीं जब चौथी लाईन भी हम पर लागू हो जाएगी

अफगानिस्तान पाकिस्तान बांगलादेश सब हिन्दुविहीन हो गए।  

अब कश्मीर आसाम को हिन्दुविहीन घोषित करने की तैयारी है।।   

आज जिहादी हमलों में वो घरबार परिवार सहित मारे गए।।।   

कल हमारी फिर हमारे बच्चों को मारने की तैयारी है।।।।

क्योंकि आसाम पर ये हमला वंगलादेशी घुसपैठिए इस्लामिक आतंकवादी  कर रहे हैं इसलिए भारत के हर देशभक्त नागरिक को अपने भारतीय भाईयों के साथ खड़ा होना चाहिए लेकिन भारत में रहने वाले मुसलमान इन घुसपैठिए आतंकवादियों के समर्थन में अब तक जमसेदपुर, मुमबई में हमला कर चुके हैं व यही इस्लमिक आतंकवादियों के समर्थक मुसलमान अब बंगलौर,पूना व हैदराबाद,पंजाब जैसे सहरों में उतरपूर्ब के अनुसूचित जनजातियों से सबन्धित हिन्दू भाईयों, अन्य हिन्दूओं व ईसाईयों को ये शहर छोड़कर जाने के लिए धमकियां दे रहे हैं इनके विरूद्ध हर तरह का झूठा प्रचार कर इनपर हमला करने के लिए महौल बना रहे हैं फिर भी हिन्दू-विरोधी भारतविरोधी एडवीज एंटोनिया अलवीना माइनो की गुलाम काँग्रेस सरकार इस्लामिक आतंकवादियों की मददगार बनी हुई है।assam

 

परिमामस्वारूप आसाम में लोग अपने घरवार छोड़कर राहत सिविरों में भाग रहे हैं, देश के मुसलिम बहुल क्षेत्रों से हिन्दू— हिन्दूबहुल क्षेत्रों की ओर भाग रहे हैं ऐसा नहीं कि हम सिर्फ उतरपूर्व के हिन्दूओं या ईसाईयों की बात कर रहे हैं पर बैसे भी भारत के जिस भी क्षेत्र में मुसलमानों की जनसंख्या  बड़ जाती है वहां पर ये इस्लामिक आतंकवादी ऐसा दहसत व गंदगी भरा महौल बना देते हैं कि हिन्दूओं के पास वहाँ से भागने के शिवा और कोई चार नहीं रहता ।

यह वही भागने की प्रवृति है जिसके कारण हिन्दू पहले अफगानीस्थान से भागा, फिर पाकिस्तान और वंगलादेश से भागा फिर बंगलादेश के साथ लगते समुद्री टापुओं से भागा, फिर कशमीर घाटी से भागा, भारत के अन्य मुसलिम बहुल क्षेत्रों से भागा …  आज वंगलौर, हैदराबाद,पूना,पंजाव व आसाम के मुसलिम बहुल क्षेत्रों से भाग रहा है…

मन में यही प्रशन पैदा होता है कि आखिर हिन्दू कब तक भागेगा और कहां भागेगा।modi

अब ये वक्त की जरूरत है कि हिन्दू यहूदियों ये सबक लेकर हिन्दूहित के लिए काम करने वाले संगठनों स्नातन संस्था—हिन्दूजागृति समृति …बजरंग दल—हिन्दूवाहिनी—RSS—VHP…जैसे संगठनों के साथ संगठित होकर इन भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी आतंकवादियों को ईंट का जबाब पत्थर से देने का मार्ग अपनाए वरना वो दिन दूर नहीं जब न हिन्दू बचेगा न हिन्दूस्थान

लोग कहते हैं, युनान मिश्र रोमा सब मिट गए, कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी।

पर यह भी सत्य है कि उस कौम का इतिहास नहीं होता ,जिसको मिटने का एहसास नहीं होता,

मिलजुलकर एकजुट होकर कदम उठाओ ऐ हिन्दूओ,बरना तुम्महारी दासतां तक न होगी दासतानों

Advertisements

One Comment

  1. neeraj kumar
    Posted मार्च 26, 2013 at 4:59 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    bahut jaankari wala lekh pad kar malum hua ki hinduo ke saath hindu desh mein kya ho raha hai….

आपके कुछ न कहने का मतलब है आप हमसे सहमत हैं

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: