सरकार बलातकारियों-भ्रष्टाचारियों-आतंकवादियों व कालेधन वालों के साथ क्यों?

p6आप सब चौंक गए होंगे कि क्यों सरकार बालातकारियों का साथ दने के लिए बालातकार के बिरूद्ध आबाज उठाने वालों पर हर तरह की क्रूरता करने के बाद प्रदर्शनकारियों को बदनाम करने पर क्यों तुल गई है?

मामला सिर्फ बालातकार का ही नहीं बल्कि भ्रषटाचार व काले धन का विरोध करने बालों के साथ भी सरकार ने इसी तरह की क्रूरता की और बाद में सरकार उन्हें भी बदनाम करने पर तुल गई क्यों?p2

बालातकार और भर्ष्टाचार व कालेधन के अतिरिक्त इसलामिक आतंकवाद का विरोध करने बालों पर भी सरकार ने बेहिसाब जुल्म ढाय लेकिन जब जुल्मों का सामना करते हुए भी ये लोग आतंकवाद के बिरूद्ध आबाज उठाते रहे तो सरकार ने जेलों में बन्द इसलामिक आतंकवादियो को छोड़कर उनकी जगह आतंकवाद का विरोध करने वाले देशभक्तों, साधु,सन्तों-साधवियों व सैनिकों और सुरक्षाबलों के अनेक जवानों को जेलों में ठूंस दिया क्यों ?1552E561935CF20F_645_0

ये कुछ ऐसे प्रश्न हैं जिनके जबाब हर देशभक्त भारतीय जानना चाहता है। मेरे विचार में इनसबका एक ही उत्र है कि कि सरकार के आका खानदान का इन सब कुकर्मों में सीधा हाथ है इसलिए सरकार इनमें से किसी भी मुद्दे को खत्म करवाने के लिए सख्त कानून बनाने की मां करने बालों का हर तरह से बिरोध करती है।

उधारण  के लिए इसलामिक आतंकवादियों को आत्मघाती हमलों की ट्रेनिंग देने में माहिर हमास से सबन्ध रखने वाला ओबैसी imagesCAOE1P3Qराहुल विन्शी का जिगरी यार है व इसलामिक आतंकवादियों के हित में आबाज उठाने वाला उमर आबदुला भी Umar abdulaइसी राहुल विन्शी का यार है बटला हाऊस में पुलिस के जवान पर हमला करने वाले आतंकवादियों को बचाने के लिए आबाज उठाने में भी इसी राहुल विन्शी का गुरू गद्दार दिगविजय सिंह सबसे आगे था……

रही बालातकार की बात तो बालातकार में भी राहुल विन्शी हाथ अजमा चुका है p5इस पर सामुहिकबलातकार का ममाल दर्ज हुआ था जिसमें लड़ी व लड़ी के मात-पिता को गायब करवाने के बाद सरकीर न् अपनी शक्ति का दुरूपियोग कर इसे बचा लिया…

काले धन और भर्ष्टाचारsoniya 9 में तो इस राहुल विन्शी की मां एडबीज एंटोनिया अलवीना माइनो का कोई सानी नहीं अब आप ही बताओ इस इटालियन अंग्रेज की गुलाम सरकार क्यों न बालातकारियों-भर्ष्टाचारियों ,आतंकवादियों व काले धन वालों को कड़ी सजा की मांग करने वालों   के बिरूद्ध खड़ी हो?p3

Advertisements

आपके कुछ न कहने का मतलब है आप हमसे सहमत हैं

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: