Author Archives: समरसता मंच

हमारे जीवन का एकमात्र मकसद हिन्दूविरोधी-देशविरोधी धर्मनिर्पेक्ष गिरोह के अत्याचारों का पर्दाफाश कर इन भारत विोरोधी धर्मनिर्पेक्ष आतंकवादियों के विरूद्ध सीधी कार्यवाही सुनिश्चित करना है। आशा है आप भी हमारे साथ आकर इस आतंकवादी मिटाओ अभियान को तीब्रता से पूरा करने में भागीदार बनेंगे।

हिन्दू आतंकवाद के विरूद्ध चौंकाने वाले प्रमाण(Stunning Evidences Against Hindu Terrorism)

आज हम प्रमाण सहित वो बताने वाले हैं जिसे समझने के  बाद कोई भी देशभक्त कांग्रेस द्वारा श्रीमद भगवद गीता + रामायण को काल्पनिक, मानवता के हत्यारे  ओसामा को  जी, भारत के दुशमन हाफिज को साहब , स्वामी राम देव को ठग या फिर हिन्दू व RSS को आतंकवादी कहने पर कतई चौंकेगा नहीं …

आओ सबसे पहले आप  इस से मिलो ये है अमेरिका में

इसलामिक आतंकवादियों के आर्थिक स्त्रोत साऊदी अरब की सहायता से Inter-Services Intelligence of Pakistan(ISI )द्वारा संचालित संस्था Kasmir Amrican Council(KAC) का प्रमुख gnf4g kac 8GNFगुलाम नबी फई जो आजकल अमेरिका में जेल में बन्द है क्योंकि इसने अमेरिका के Senators को  इसलामिक आतंकवादियों के लिए काम करने के लिए ठीक उसी तरह खरीदने की कोशिश की जिस तरह इसने KAC के माध्यम से भारतीय सांसदों, फिल्मकारों, पत्रकारों,  तथाकथित मानवाधिकारवादियों व समाजिक कार्यकर्ताओं को खरीदा था।

गृहमन्त्री सुशील कुमार शिन्दे द्वार हिन्दूओं को आतंकवादी साबित करने के पक्ष में ये कहा जा रहा है कि कांग्रेस सरकार द्वारा गिरफ्तार हिन्दूओं में से एक  ने ये स्वीकार किया है कि सच्चर कमेटी रिपोर्ट पूरी होने से  करने से पहले ही Hindus Wanted to Kill Justice Rajinder sachar

राजेन्द्र सच्चर को मारना सही है या गलत कहने से पहले ये जान लें कि राजेन्द्र सच्चर किसके लिए काम कर रहा था भारत के लिए या फिर भारत के शत्रुओं के लिए?

आओ जरा इस तस्वीर पर नजर दौड़ायें

अरे ये क्याg jrs कांग्रेस सरकार द्वारा भारत में काँग्रेस के 50 वर्ष के शासनकाल में मुसलमानों की दुर्गति की रिपोर्ट लिखने के लिए चुना गया Justice Rajinder sachar, इसलामिक आतंकवादियों के आर्थिक स्त्रोत साऊदी अरब की सहायता से Inter-Services Intelligence of Pakistan(ISI )द्वारा संचालित Kasmir Amrican Council(KAC) के मंच पर ?

अगर आप सोच रहे हैं कि इसे इसलामिक आतंकवादी बन्धक बनाकर ले गए हैं तो आप गलत हैं क्योंकि g jrs 1.png2

इस गद्दार की इन तस्वीरों को देखकर साबित हो जाता है कि ये खुशी-g jrs.png1खुशी भारत के शत्रुओं के लिए काम कर रहा है जिसका इनमा भारत के शत्रु इसे इस तरह से दे रहे हैं।American Federation of Muslims of Indian Origin original_mg-muslims-sachar-reportअगर आपको इसकी गद्दारी पर जरा भी शंका है तो सच्चर कमेटी रिपोर्ट उठाकर एकबार पढ़ लें आप खुदबाखुद समझ जायेंगे कि किस तरह इस गद्दार ने ISI के इसारे पर सच्चर कमेटी की रिपोर्ट के माध्यम से भारतीयता पर हमला किया है।

अब आप बताओ कि अगर हिन्दू भारतविरोधियों के लिए काम करने बाले ऐसे गद्दार को मारने की योजना बना रहे थे तो क्या गलत कर रहे थे?

क्योंकि हमारे पूजनीय गुरू गोविन्द सिंह जी जैसे  देशभक्त क्रांतिकारियों ने हमें यही तो सिखाया है कि जो भारत के शत्रुओं के लिए काम करे उसे जिन्दा रहने का कोई हक नहीं …

खैर छोड़ो मरना-मारना हमारे हाथ में नहीं लेकिन आप ये सोचो कि जिस काँग्रेस सरकार ने इस ISI ऐजेंट को इतनी महत्तवपूर्ण कमेटी का अध्यक्ष बनाया वो किसके लिए काम कर रही है भारत के लिए या फिर भारत के शत्रुओं के लिए?

कांग्रेस सरकार में भी बो कौन है जो भारत के शत्रु आतंकवादियों से पैसे खाकर हिन्दूओं को आतंकवादी कहकर बदनाम करने के लिए कभी करकरे तो कभी चिदंमबरम तो कभी दिगबिजय सिंह और अब सिंदे का इस्तेमाल कर रहा है?

कहीं ये तो नहीं?rs1

बेचारा खुद कठपुतली है इसकी क्या औकात जो किसी और का इस्तेमाल कर सके। ये नहीं तो फिर मौत का सौदागर है कौन?

अभी आप अपना धैर्य बनाए रखें क्योंकि ये मामला जल्दी में निपटाने का नहीं बल्कि गहन चिन्तन करने का है कि काँग्रेस सरकार ने सिर्फ यही काम ISI के ईसारे पर किया या फिर कुछ और काम भी ?

जरा ध्यान से देखें ये है अमेरिका में भारत के शत्रु कातिलों के गिरोह ISI की ब्राँच KAC का सरगना गुलाम नबी फई fअपने clip_image024प्रधानमन्त्री के साथ जिसे कांग्रेस के प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह ने  शांतिदूत करार दिया क्यों?

क्या भारतीयों का कतलयाम करवाने वाले को कोई देशभक्त शांतिदूत कह सकता है? नहीं न

अब जरा इन्हें देखें ये हैं राध कुमार औgnf5र दिलीप पांडगो़डकर जिन्हें काँग्रेस सरकार ने कशमीर समस्य़ा का समाधान करने के लिए मध्यस्थ नियुक्त किया।

लेकिन ये क्या ये राधा कुमार तो भारत की शत्रु ISI द्वारा संचालित KAC के सरगना गुलाम नबी फई radha kumar with Ghulam Nabi Faiकी clip_image026बगल में बैठकर भारत को बरबाद करने के षडयन्त्र रच रही है ध्यान रहे दिलीप पांडगोटकर भी इसी हत्यारे का साथी है।

अब आप खुद सोचो कि जिस कांग्रेस सरकार ने भारत की असमिता से सबन्धित दो कमेटिया बनाईं और दोनों में ISI  ऐजेंटो को रखा वो काँग्रेस क्या कभी किसी देशभक्त के साथ खड़ी हो सकती है? नहीं न

ISI द्वारा संचालित KAC के सरगना गुलाम नबी फई के इरादों को समझने के लिए इसे भी देखेंg fai

अब आप सोच रहे होंगे कि आजकल  मिडीया का जमाना है तो फिर ये सब बातें तथाकथित मानवाधिकारबादियों ,समाजिक कार्यकर्ताओं व बुद्धिजीवियों ने क्यों नहीं उठाईं ?

दोस्तो जिन गद्दारों  ने अपनी कलम का सौदा भारत के शत्रुओं के साथ भारत को बदनाम कर बरबाद करने के लिए कर लिया  हो उन दलालों से भला आप राष्ट्रहित के मुद्दे उठाने की उम्मीद कैसे कर सकते हैं?

भरोसा नहीं होता तो ये देखो  ये बो गद्दार  है

g kn 3

जिसे हमारे जैसे लोग बचपन से पत्रकारिता का आदर्श मानते  आए हैं  वही शख्श इतना बड़ा गद्दार निकलेगा हमने कभी स्वपन में भी नहीं सोचा था।

देखो तो जरा किस तरह ये गद्दार इसलामिक आतंकवादियों के सरगना गुलामनबी फई g knके साथ बैठकर भारत को बदनाम करने हिन्दूओं को आतंकवादी साबित करने की कसमें उठा रहा है…

दोस्तो आप सब जानते हैं कि 1986 से लेकर 2006 तक अकेले कशमीर घाटी में ही इसलामिक आतंकवादियों ने साठ हजार हिन्दूओं का कत्ल  कर पांच लाख हिन्दूओं को बेघर किया लेकिन इस गद्दार की कलम आज तक इन हिन्दूओं के दुख दर्द को समझने समझाने के लिए नहीं चली इसकी कलम चलती है तो सिर्फ गुजरात में मुसलमानों द्वारा हिन्दूओं को जिन्दा जलाए जाने के बाद भड़के सांप्रदायिक दंगों में मारे गए मुठी भर हमलावर मुसलमानों के लिए क्यों? क्या  आपने कभी सोचा कि इस गद्दार की कलम सिर्फ मुसलमानों व इसलामिक आतंकवादियों के लिए  ही साहनुभूति क्यों पैदा करती है क्यों इसे देशभर में इसलामिक आतंकवादियों द्वारा बहाया जा रहा लाखों  हिन्दूओं का खून पानी की तरह नजर आता है कारण सिर्फ एक ही है क्योंकि ये गद्दार अपनी कलम को इसलामिक g kn1आतंकवादियों के हाथों बेच चुका है  ?

ये वही कातिल है जिसने भारत के लोकतन्त्र के मन्दिर पर हमले के मुख्य आरोपी आतंकवादी  SAR GilaniSAR  Gillani को बचाने के लिए मोमबती जलाओ व हस्ताक्षर करवाओ अभियान चलाकर ततकालीन सरकार पर दबाब बनाकर इस आतंकवादी को छुवाड़ाने में सफलता हासिल की और इसका दूसरा साथी अफजल gilaniआज भी इसलामिक आतंकवादियों के हाथों बिके हुए  Politicians की बजह से माननीय न्यायालय द्वारा इस भारत के इस शत्रु को 19 नम्मबर 2006 को  फांसी पर लटकाने के आदेश के बाबजूद आज तक जिन्दा रहकर भारतीय न्यायव्यवस्था व शहीदों का अपमान कर रहा है।

दोस्तो यही कारण है कि गुजरात के बहाने हिन्दूओं को बदनाम करने के लिए ये कातिल g k n 3आज तक दर्जनों लेख लिख चुका है जबकि कशमीर घाटी के इसलामिक आतंकवादियों की बरबरता को लिखते वक्त इसकी कलम की स्याही सूख जाती है।

दोस्तो इसलामिक आतंकवादियों के हाथों बिका हुआ ये गद्दार पत्रकार  g kn 3.png4गद्दार जज से मिलकर भारत को कितना बड़ा नुकसान पहुंचा चुका है उसकी कल्पना करना भी आज हम लोगों के अनुमान से परे है।

ऐसा नहीं कि भारतविरोधी इस सेकुलर गिरोह में सिर्फ जज और पत्रकार ही शामिल हैं वास्तव में इस गिरोह में समाज को प्रभावित कर सकने में समर्थ हर स्तर का व्यक्ति सामिल है ।अब इसे ही देखो g5जो खुद को  समाजिक कार्यकर्ता कहकर अक्कसर भारतविरोधियों के हाथों बिके हुए समाचार चैनलों के सटुडियो में  बैठकर भारतविरोधी आतंकवादियों की हर कार्यवाही का समर्थन करते हुए भारतीय सेना ,पुलिस व देसभक्त संगठनों को गाली निकालता फिरता था हम दुविधा में पड़ जाते थे कि समाजिक कार्यकर्ता को देशभक्तों को गाली गलौच करने की क्या जरूरत लेकिन इन तसवीरों को देखने के बाद हमें पता चल गया कि ये गद्दार भी g2इसलामिक आतंकवादियों के पैसे पर पलने बाला वो आसतीन का सांप है जो भारत माता की गोद में जन्म लेकर भारत माता की बर्बादी के हर खेल में सामिल है  g6भारतविरोधी कोई भी आतंकवादी भारत पर हमला करे ये हमेशा उन आतंकवादियों का चौकीदार बनकर भारत को बदनाम करने के लिए तत्पर रहता था।g4 वैसे हम तो शुरू में इसे इसे बामपंथी आतंकवादियों का मददगार मानते थे लेकिन बाद में पता चला ये तो इसालमिक आतंकवादियों का भी ऐजेंट है।

काँग्रस सरकार की भारतविरोधी मानसिकता की नीचता तो देखो ये गद्दार भारत में व भारत से बाहर भारत को लहूलुहान करने के लिए g kac3दिन रात काम कर रहे हैं लेकिन ये भारतविरोधी काँग्रेस सरकार इन आसतीन के  साँपों को कुचलने के बजाए उन सैनिकों—सन्तों-साध्वियों—पुलिस के जवानों व अधिकारियों और अन्य देशभक्तों को कुचलने में लगी हुई है जो भारतविरोधी आतंकवादियों के बिरूद्ध आवाज उठा रहे हैं व उन्हें मार गिरा रहे हैं।

दोस्तो आप सोच रहे होंगे कि इसालिम आतंकवादियों के हाथों बिके हुए ये मुठीभर लोग भारत का कुछ नहीं बिगाड़ सकते तो आप भ्रम का सिकार हैं क्योंकि इन्हीं बिके  हुए Politicians Khursheedविशेषकर कांग्रेसियों व सेकुलर गद्दारों —पत्रकारों—तथाकथित मानवाधिकारवादियों—prasant.4jpgसमाजसेवको—–फिल्मकारोंk8 ने हिन्दूओं के बहाने भारत को इस हद तक बदनाम कर दिया है कि भारत के इतिहास में पहली बार किसी दूसरे देश ने भारत को आतंकवादी राष्ठ्र घोषित करने की मांग की हैg kac6 चलते-चलते आप इस ऐजेंट g Harinder Babejaको भी पहचानते चलें ये है भारतविरोधियों की खास पत्रिका तहलका की हरेन्द्र बबेजा तथा ये हैं भारतविरोधियों के मददगार प्रफैसरProfessor Kamal Mitra Chenoy

अब आप जानना चाहेंगे कि इन गद्दारों ने इसलामिक आतंकवादियों से पैसा व सुविधायें लेने के बदले में क्या किया

सबसे पहले तो इस  सेकुलर गिरोह ने मिलकर हिन्दूमिटाओ-हिन्दूभगाओ अभियान चलाया जिसमें देशभर में आतंकवादी हमलों में लाखों हिन्दूओं को कत्ल कर लाखों को उजाडा़ गया। इस अभियान में किस तरह इस गिरोह ने एकजुट होकर भारत को लहुलुहान किया इस बात को खुद  कातिलों के गिरोह के सरगना गुलामनबी फई ने अमेरिकी अदालत में कबूल किया।

जब भी कभी देश में इन भारतविरोधी आतंकवादियों  के विरूद्ध महौल बना तब इन बिके हुए गद्दारों ने बिके हुए चैनलों पर बैठकर भारतीय सैनिकों—पुलिस व अन्य देशभक्त संगठनों के बिरद्ध आगर उगलकर इन आतंकवादियों की मदद की।

दोस्तो इस सेकुलर गिरोह से जुड़े गद्दारों ने जो किया सो किया लेकिन जब बाढ़ ही खेत को खाने लग जाए तो भला कोई क्या करे…मतलब इस सेकुलर गिरोह के दुशप्रचार का शिकार होकर जिस कांग्रेस पार्टी की सरकार बनाकर देश की आम जनता ने  भारत की रक्षा की जिम्मेदारी एक विदेशी इटालियन अंग्रेज को सौंप दी जब उसी अंग्रेज ने चर्च के इसारे व इसलामिक आतंकवादियों के सहारे भारत को कुचने की ठान ली तो आज वो हुआ जो आज तक कभी नहीं हुआ था ……………….मतलब सीमापार से इसलामिक आतंकवादियों ने भारत की 16 लाख की सेना के होते हुए भी पहले असम में भारतीयों पर हमला बोला और अब जम्मु-कशमीर में घुसकर भारतीय सैनिक का सिर काटकर सीमा पार ले गए और हम देखते रह गए ।

मुसीबत की इस घड़ी में काँग्रेस ने भारत के शत्रुओं से लड़ने के बजाए भारत को ही आतंकवादी करार दे दिया…गुलामी की हद तो तब हो गई जब कांग्रेस सरकार और पाकिस्तान मिलकर भारत को आतंकवादी राष्ट्र कहकर बदनाम करने  लगे…

इससे पहले भी इसी काँग्रेस सरकार ने शर्मअलशेख में लिखकर दिया कि बलूचीस्तान में  आतंकवाद भारत पैला रहा है—-

यही नहीं इसी काँग्रेस सरकार ने भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए भारतीय सेना के अधिकारी लैप्टीनैंट कर्नल पुरोहित को आतंकवादी कहकर जेल में बन्द कर दिया क्योंकि उसने सरकार को आतंकवादियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए चिठी लिखी …

इसी इटालियन अंग्रेज की गुलाम सरकार ने  भारतीयों के हत्यारे दो इटालिन सैनिकों को जेल से क्रिसमिस की छुट्टी देकर इटली भेज दिया और इसलामिक आतंकवादियों को मारने के झूठे आरोप लगाकर जेल में बन्द की गई साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर जुल्म ढाकर उसे कैंसर का शिकार बना दिया और कोर्ट द्वारा उसे इलाज के लिए जमानत देने की बात कहने पर भी इस गद्दारों  की सरकार ने विरोध किया….जरा सोचो इटालिन कातिलों को क्रिसमिस की छुटी देने बाली इस भारतबिरोधी सरकार ने क्या भारतीय सैनिक लैप्टीनैंट कर्नल पुरोहित को दीपावली की छुट्टी दी….

नहीं न जरा सोचो कि जिस कांग्रेस सरकार ने ISI के साथ मिलकर ISI ऐजेंट राजेन्द्र सच्चर को सचर कमेटी का अध्यक्ष बनाकर ISI के देशविरोधी-हिन्दूविरोधी षडयन्त्रों को वैधानिक दर्जा दिलवाने के लिए रिपोर्ट तैयार करबाई…

ISI के साथ मिलकर दलीप पांडगौंकर+राधा कुमार जैसे ISI ऐजेंटों को कशमीर पर ISI के षडयन्त्रों को बैधानिक दर्जा दिलवाने के लिए कमेटी का सदस्य बनाया…

भारत के संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों का बताकर हिन्दूओं और मुसलमानों के बीच बैमनस्य बढ़ाया व हिन्दूओं में असुरक्षा की भावना को और बढ़ाया …

मुसलिम बहुल जिलों के विकास की बात कर मुसलमानों को अपनी जनसंख्य बढ़ाने के लिए उकसाया…

सुरक्षाबलों को आतंकवादी घटना के बाद इस्लामिक आतंकवादियों के विरूद्ध कार्यवाही न करने को कहकर हिन्दूओं को फंसाने के लिए उकासाय…

पाठशाला में प्रवेश लेने पर मिलने वाली छात्रवृति को सिर्फ गैर हिन्दूओं तक सीमित किया… यहां तक कि SC,ST,OBC के बच्चों को भी वन्चित करवया….

हिथरो हवाई अड्डे पर बम धमाका करने वाले इस्लामिक आतंकवादी के पकड़े जाने पर शोर-शराबा मचाकर इसलामिक आतंकवादियों का हौसला बढ़ाया….

रामलीला मैदान में निर्दोष देशभक्तों पर हमला करवाकर उसे जायज ठहराया…

CBI का दुरूपयोग कर इसरत जहां व सोराबुद्दीन जैसे दुर्दांत आतंकवादियों को मार गिराने वाले जवानों को जेलों में ढलवाया…सांप्रदायिक हिंसा बिल के माध्यम से मुसलमानों व मुसलिम आतंकवादियों के हर अपराध के लिए हिन्दूओं को दोषी ठहराने का षडयन्त्र रचाया…

सेना को सांप्रदायिक आधार पर बांटने का षडयन्त्र रचाकर भारत की नींब को हिलाया…

क्या अब भी आप इटालियन अंग्रेज की गुलाम ऐसी भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी काँग्रेस से ये उम्मीद कर सकते हैं कि वो देशभक्त हिन्दूओं को हिन्दू क्राँतिकारी कहकर भारतविरोधी आतंकवादियों का नमोनिसान मिटाने के लिए उनका साहस बढाए…

कुल मिलाकर हिन्दूओं को बार-बार आतंकवादी कहकर इसलामिक आतंकवादियों को बचाने के षडयन्त्र के पीछे और कोई नहीं सिर्फ और सिर्फ एडबीज एंटोनिया असलवीना माइनो ही है soniyaजो चर्च द्वारा भारत को तबाह  करने के लिए रचे जा रहे हर षडयन्त्र को बौद्धिक गुलामों व बिके हुए सेकुलर गद्दारों के सहयोग से इसलामिक आतंकवादियों imagesCAOE1P3Qको हथियार बनाकर बड़ी चतुराई से अंजाम दे ही है…

ऐसे में जब भी कोई गुलाम काँग्रेसी  हिन्दूओं को आतंकवादी कहे तो आपको समझ जाना चाहिए कि देश के लिए बाजी लगाने को ततपर हिन्दू क्राँतिकारियों को आतंकवादी कहने वाला भारतविरोधी आतंकवादियों के हाथों बिका हुआ गद्दार है जिसे भारत माता  की पाबन धरती पर रहने का कोई अधिकार नहीं आओ मिलकर भारत माता को ऐसे गद्दारों से मुक्त करने का प्रण कर आगे बढ़ें…

2012 in review

The WordPress.com stats helper monkeys prepared a 2012 annual report for this blog.

Here’s an excerpt:

600 people reached the top of Mt. Everest in 2012. This blog got about 4,900 views in 2012. If every person who reached the top of Mt. Everest viewed this blog, it would have taken 8 years to get that many views.

Click here to see the complete report.

सरकार बलातकारियों-भ्रष्टाचारियों-आतंकवादियों व कालेधन वालों के साथ क्यों?

p6आप सब चौंक गए होंगे कि क्यों सरकार बालातकारियों का साथ दने के लिए बालातकार के बिरूद्ध आबाज उठाने वालों पर हर तरह की क्रूरता करने के बाद प्रदर्शनकारियों को बदनाम करने पर क्यों तुल गई है?

मामला सिर्फ बालातकार का ही नहीं बल्कि भ्रषटाचार व काले धन का विरोध करने बालों के साथ भी सरकार ने इसी तरह की क्रूरता की और बाद में सरकार उन्हें भी बदनाम करने पर तुल गई क्यों?p2

बालातकार और भर्ष्टाचार व कालेधन के अतिरिक्त इसलामिक आतंकवाद का विरोध करने बालों पर भी सरकार ने बेहिसाब जुल्म ढाय लेकिन जब जुल्मों का सामना करते हुए भी ये लोग आतंकवाद के बिरूद्ध आबाज उठाते रहे तो सरकार ने जेलों में बन्द इसलामिक आतंकवादियो को छोड़कर उनकी जगह आतंकवाद का विरोध करने वाले देशभक्तों, साधु,सन्तों-साधवियों व सैनिकों और सुरक्षाबलों के अनेक जवानों को जेलों में ठूंस दिया क्यों ?1552E561935CF20F_645_0

ये कुछ ऐसे प्रश्न हैं जिनके जबाब हर देशभक्त भारतीय जानना चाहता है। मेरे विचार में इनसबका एक ही उत्र है कि कि सरकार के आका खानदान का इन सब कुकर्मों में सीधा हाथ है इसलिए सरकार इनमें से किसी भी मुद्दे को खत्म करवाने के लिए सख्त कानून बनाने की मां करने बालों का हर तरह से बिरोध करती है।

उधारण  के लिए इसलामिक आतंकवादियों को आत्मघाती हमलों की ट्रेनिंग देने में माहिर हमास से सबन्ध रखने वाला ओबैसी imagesCAOE1P3Qराहुल विन्शी का जिगरी यार है व इसलामिक आतंकवादियों के हित में आबाज उठाने वाला उमर आबदुला भी Umar abdulaइसी राहुल विन्शी का यार है बटला हाऊस में पुलिस के जवान पर हमला करने वाले आतंकवादियों को बचाने के लिए आबाज उठाने में भी इसी राहुल विन्शी का गुरू गद्दार दिगविजय सिंह सबसे आगे था……

रही बालातकार की बात तो बालातकार में भी राहुल विन्शी हाथ अजमा चुका है p5इस पर सामुहिकबलातकार का ममाल दर्ज हुआ था जिसमें लड़ी व लड़ी के मात-पिता को गायब करवाने के बाद सरकीर न् अपनी शक्ति का दुरूपियोग कर इसे बचा लिया…

काले धन और भर्ष्टाचारsoniya 9 में तो इस राहुल विन्शी की मां एडबीज एंटोनिया अलवीना माइनो का कोई सानी नहीं अब आप ही बताओ इस इटालियन अंग्रेज की गुलाम सरकार क्यों न बालातकारियों-भर्ष्टाचारियों ,आतंकवादियों व काले धन वालों को कड़ी सजा की मांग करने वालों   के बिरूद्ध खड़ी हो?p3

जब आप दूसरे की मां-बहन-बेटी का अपमान करते हैं तो बासतब में आप अपनी मां बहन बेटी का अपमान करवाने के लिए एक महिलाविरोधी माहौल वना रहे होते हैं

rapहमीरपुर जिले के मतलेड़ी गांव की छठी में पढ़ने वाले छात्रा जो पाठसालाल से घर आ रही थी को गांव के ही गुंड़े ने बीड़ी लाने के बहाने बुलाया और फिर उसका बलातकार करने के बाद उसके सिरपर पत्थर मार-मार कर उसका कतल कर दिया क्या अब भी आप कहेंगे कि न्यालया द्वारा फांसी की सजा सुनाए गए 8 गुंडो की सजा माफ करने वाली कांग्रेस सरकार बालातकारियों की मददगार नहीं है
आो बालातकारियोंके मददगारियोंको वे चाहे कोई भी हों के लिए फांसी की सजा सुनिशेचित करें व ऐसे बालातकारियों का पक्ष लेने वाले दानबाधिकारबादियों को सबक सिखाने का प्रण करें

हमीरपुर जिले के टिहरी गाँव की लड़की
जो कि दशवीं गांव की प्राथमिक पाठशाला में पढ़ती थी के साथ हटली गांव के 30 वर्षीय गुंडे ने बालातकार करने की कोशिश करते हुए उसकी योनी में चाकू/बलेड से जखम कर दिए आज वो गुंडा खुला घूमता है किया अब भी आप बालातकारियों को फांसी की सजा देने का विरोध करने वाले दानबाधिकारबादियों काो सबक सिखाने वाले क्राँतिकारियों का समर्थन नहीं करेंगे
मामला दब गयाक्योंकि एकतो ये गरीब थी और दूसरा सहरी मिडीया की पहुंच से कोसों दूर

सिर्फ पुलिस बालों को सजा की बात कर रहे हैं वो बासतब में बालातकारियों को फांसी की सजा से बचाने के लिए जनता का ध्यान बंटाना चाहते हैं इनसे साबधान

जब लालकृष्ण अडवानी जी ने वालातकारियों को फांसी दने के लिए कानून बनाने की कोशिस शुरू की थी अगर उस वक्त ये लोग फांसी का विरोध करने वाले दानबाधिकारियों के बिरूध खड़े हो जाते तो आज तक ये कानून कब का लागू हो चुका होता फिर भी देर आए दुरूशत आए

बलातकारियों को हर हाल में शीघ्रताशीघ्र फांसी सजा मिलनी चाहिए लेकिन प्रदर्शनकारियों को सरकार के गुलाम सुरक्षाबलों पर हमला नहीं करना चाहिए वल्कि फांसी की सजा का विरोध करने वाले नेताओ, पत्रकारों और तथाकथित समासेवकों व दानबाधिकारबादियों को ढूंढ-ढूंढ कर शबकसिखाना चाहिए

जिस इटालियन अंग्रेज के सपोले पर अभी-अभी बालात्कार का केश CBI की मदद से खत्म हुआ हो वो भला क्यों बलात्कारियों का फांसी की सजा देने का समर्थन करेगी

आत्मरक्षा में हिन्दू हथियार न उठोयें तो क्या इन राक्षसों के हाथों निहथा मरें ?

जेहादीयों का बैनर

आप बास्तब में अगर देश में शान्ति चाहते हैं तो इस जानकारी को ध्यान से देखने और पढ़ने के बाद खुदवाखुद चिल्ला उठेंगे कि जब सराकरें मानबता के हत्यारों के साथ जा खड़ी हुई हैं तो हिन्दू के पास आत्मरक्षा में हथियार उठाने शिवा कोई चारा नहीं!

jehadi poster in kashmir 

ये वो बैनर है जो मानबता के हत्यारों ने कशमीर घाटी में जगह-जगह चिपकाकर हिन्दूमिटाओ-हिन्दूभगाओ षडयन्त्र की शुरूआत की

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़ें।)

 

 

k9INDIA_KASHMIR_POLIC_135876e

ये हैं वो सैनिक जिनके कन्धों पर भारतीयों की रक्षा की जिम्मेदारी है लेकिन चोरों ,गद्दारों और लुटेरों की सेकुलर(काँग्रेस) सरकार ने इनके हाथ इस कदर बान्ध दिए हैं कि ये खुद इसलामिक आतंकवादियों से पिटने-मरने को मजबूर हैं अब आप ही बताओ जिनको अपनी रक्षा का अधिकार नहीं वो भला दयावान-लाचार-शान्तिप्रिय हिन्दूओं की रक्षा कैसे करेंगे

sopore 2

अगर कहीं  ये सैनिक आत्मरक्षा में किसी इसलामिक आतंकवादी को मार गिराते हैं तो उसे फर्जी मुठभेड़ करार देकर आतंकवादियों को मारने वाले बहादुर सैनिकों को जेलों में डाल दिया जाता है

(आज सैंकड़ों सैनिक व अन्य सुरक्षा बलों के जवान देशभक्ति की सजा जेलों में भुक्तने को मजबूर हैं)

 

आतंकवादियों की रक्षा के लिए कमांडर बर्खास्त

सैनिकों द्वारा अपना खून बहाकर देश के लिए किए गए काम को किस तरह इन गद्दार समर्थक सरकारों ने बर्बाद किया उसी को दर्शाता है ये ब्यान

सेनापति का दर्द

मुम्बई दंगा करवाने वालों के साथ वही गृहमन्त्री खड़ा है जिसे इससे पहले एडवीज एंटोनिया अलवीना माइनो(सोनिया गाँधी) के ऐजेंट अहमद पटेल व इसालमिक आतंकवादी के साथ बैठकर मुंम्बई का पुलिस कमीशनर की नियुक्त तय करते हुए कैमरे में कैद किया गया था

RR PAtil

जब आतंकवादियों के इसारे पर सराकर काम करे तो इसके शिवा और क्या हो सकता है

Muslims of India_11.08.2012

वन्देमातरम् का विरोध….भारत माता को गाली—-सैनिकों पर हमले—अब अमरजवान समारक मतलब देश की आन-वान-शान के लिए कुर्वान होने वाले शहीदों का अपमान

क्या अब भी आप कह सकते हैं कि गद्दार नहीं है मुसलमान

t1

मुसलमानों की गद्दारी का नमूना आप याहं भी देख सकते हैं कि वो इन गद्दारों का किस तरह समर्थन कर रहे हैं

http://www.facebook.com/photo.php?fbid=453632971326429&set=o.198159610273612&type=1&permPage=1

मुसलमानों की धमकियों व हमलों के परिणामस्वारूप हिन्दूओं का पलायन

h9

मुसलमानों के हमलों और हिन्दूओं की इसी भागमभाग में

अफगानिस्तान पाकिस्तान बांगलादेश सब हिन्दुविहीन हो गए।

अब कश्मीर आसाम को हिन्दुविहीन करने के लिए जिहादी हमले जारी हैं।।

आज जिहादी हमलों में वो घरबार परिवार सहित मारे गए।।।

कल हमारी फिर हमारे बच्चों को मारने की तैयारी है।।।।

आपके मन में यही आ रहा होगा

DESTROY ISLAM
OR
GET DESTROYED BY IT

 

हिन्दूओं की सेवा में

उग्रहिन्दूवादी

(sdsbtf@gmail.com

हिन्दूओ कब तक भागोगे …..

आज हम बहुत दिनों बाद लिख रहे हैं वो भी एक ऐसे विषय पर जो हमारी आत्मा को हर वक्त लहुलुहान करता रहता है …h9अभी हाल ही में मिडीया ने आसाम का मुद्दा उठाया ये सोचकर कि आसाम में होने वाली हिंसा में प्रताड़ित लोग मुसलमान हैं लेकिन जैसे ही मिडीया को ये ऐहसास हुआ कि सच्चाई इसके विलकुल विपरीत है मिडीया ने इस मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालने की बहुत कोशिश  की ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आसाम में बंगलादेशी घुसपैठिएयों (intruders) ने अपनी संख्या भारत-विरोधी हिन्दू-विरोधी काँग्रेस की सहायता से इतनी बड़ा ली है कि अब वो वहां पर स्थानीय निवासी हिन्दू अनुसूचित जनजातियों व धर्मान्तरित हो चुके ईसाईयों को उनके घरों पर हमले कर उनका खून वहाकर ठीक उसी तरह आसाम को हिन्दूविहीन करने की कोशिस कर रहे हैं जिस तरह इन इस्लामिक आतंकवादियों ने इसी भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी काँग्रेस की सहायाता से कशमीरघाटी को हिन्दूविहीन किया था। हिन्दूमिटाओ-हिन्दूभगाओ अभियान

…परिणामस्वारूप आज आसाम के बहुत से क्षेत्र हिन्दूविहीन हो गए हैं व लाखों हिन्दू अपने घर बार छोड़कर राहत सिविरों में रहने को मजबूर हैं और काँग्रेस अपने भारत के इन निर्दोष नागरिकों के साथ खड़े होने के बजाए घुसपैठिए इस्लामिक आतंकवादियों का ये कहकर बचाब कर रही है कि अमेरिका(अमेरिका एसा ईसाई देश है जिसका राष्ट्रपति संविधान के बजाए बाईबल की शपथ लेता है) में भी मैक्सिको से घुसपैठ होती रहती है लेकिन वो ये बताना भूल जाती है कि घुसपैठ करने वाले न तो इस्लामिक आतंकवादी होते हैं और न ही अमेरिका अपने नागरिकों पर अमेरिका में तो क्या दुनिया के किसी भी हिस्से में हमला बर्दास करता है हद तो तब हो जाती है जब काँग्रेस इन जिहादी घुसपैठिए आतंकवादियों के मानबाधिकारों की बात करती है साथ ही पाकिस्तान व वंगलादेश में इस्लमिक आतंकवादियों की हिंसा के सिकार हिन्दूओं व अनुसूचित जातियों से सबन्धित हिन्दूओं खासकर वालमिकीयों को भारत की नागरिकता देने का विरोध करती है।

ये चार लाईनें हमने 2007 में इस लेख में लिखी थीं और आज के हालात देखकर आप समझ सकते हैं कि हमने कितना सी आकलन किया था और हिन्दू इसी तरह असंगठित रहा तो वो दिन दूर नहीं जब चौथी लाईन भी हम पर लागू हो जाएगी

अफगानिस्तान पाकिस्तान बांगलादेश सब हिन्दुविहीन हो गए।  

अब कश्मीर आसाम को हिन्दुविहीन घोषित करने की तैयारी है।।   

आज जिहादी हमलों में वो घरबार परिवार सहित मारे गए।।।   

कल हमारी फिर हमारे बच्चों को मारने की तैयारी है।।।।

क्योंकि आसाम पर ये हमला वंगलादेशी घुसपैठिए इस्लामिक आतंकवादी  कर रहे हैं इसलिए भारत के हर देशभक्त नागरिक को अपने भारतीय भाईयों के साथ खड़ा होना चाहिए लेकिन भारत में रहने वाले मुसलमान इन घुसपैठिए आतंकवादियों के समर्थन में अब तक जमसेदपुर, मुमबई में हमला कर चुके हैं व यही इस्लमिक आतंकवादियों के समर्थक मुसलमान अब बंगलौर,पूना व हैदराबाद,पंजाब जैसे सहरों में उतरपूर्ब के अनुसूचित जनजातियों से सबन्धित हिन्दू भाईयों, अन्य हिन्दूओं व ईसाईयों को ये शहर छोड़कर जाने के लिए धमकियां दे रहे हैं इनके विरूद्ध हर तरह का झूठा प्रचार कर इनपर हमला करने के लिए महौल बना रहे हैं फिर भी हिन्दू-विरोधी भारतविरोधी एडवीज एंटोनिया अलवीना माइनो की गुलाम काँग्रेस सरकार इस्लामिक आतंकवादियों की मददगार बनी हुई है।assam

 

परिमामस्वारूप आसाम में लोग अपने घरवार छोड़कर राहत सिविरों में भाग रहे हैं, देश के मुसलिम बहुल क्षेत्रों से हिन्दू— हिन्दूबहुल क्षेत्रों की ओर भाग रहे हैं ऐसा नहीं कि हम सिर्फ उतरपूर्व के हिन्दूओं या ईसाईयों की बात कर रहे हैं पर बैसे भी भारत के जिस भी क्षेत्र में मुसलमानों की जनसंख्या  बड़ जाती है वहां पर ये इस्लामिक आतंकवादी ऐसा दहसत व गंदगी भरा महौल बना देते हैं कि हिन्दूओं के पास वहाँ से भागने के शिवा और कोई चार नहीं रहता ।

यह वही भागने की प्रवृति है जिसके कारण हिन्दू पहले अफगानीस्थान से भागा, फिर पाकिस्तान और वंगलादेश से भागा फिर बंगलादेश के साथ लगते समुद्री टापुओं से भागा, फिर कशमीर घाटी से भागा, भारत के अन्य मुसलिम बहुल क्षेत्रों से भागा …  आज वंगलौर, हैदराबाद,पूना,पंजाव व आसाम के मुसलिम बहुल क्षेत्रों से भाग रहा है…

मन में यही प्रशन पैदा होता है कि आखिर हिन्दू कब तक भागेगा और कहां भागेगा।modi

अब ये वक्त की जरूरत है कि हिन्दू यहूदियों ये सबक लेकर हिन्दूहित के लिए काम करने वाले संगठनों स्नातन संस्था—हिन्दूजागृति समृति …बजरंग दल—हिन्दूवाहिनी—RSS—VHP…जैसे संगठनों के साथ संगठित होकर इन भारतविरोधी-हिन्दूविरोधी आतंकवादियों को ईंट का जबाब पत्थर से देने का मार्ग अपनाए वरना वो दिन दूर नहीं जब न हिन्दू बचेगा न हिन्दूस्थान

लोग कहते हैं, युनान मिश्र रोमा सब मिट गए, कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी।

पर यह भी सत्य है कि उस कौम का इतिहास नहीं होता ,जिसको मिटने का एहसास नहीं होता,

मिलजुलकर एकजुट होकर कदम उठाओ ऐ हिन्दूओ,बरना तुम्महारी दासतां तक न होगी दासतानों

भगवान श्रीकृष्ण जी के जन्मदिन पर सब हिन्दूओं को हार्दिक शुभकामनायें

vishnuji000

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः

जयकारा वीर बजरंगी – – – हर हर महादेव

डाउनलोड करें

ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः
ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः ॐ श्री हनुमते नमः

आओ शहीद जवानों को श्रधांजली अर्पित करते हुए प्रण करें कि भारतविरोधी आतंकवादियों और उनके समर्थक सेकुलर गद्दारों को जब तक भारत से नेसतनानबूद नहीं कर दिया जाता तब तक हम चैन से नहीं बैठेंगे…

देखो ये प्रश्न भारत के अस्सतित्व का है इसलिए इस प्रश्न का जबाब भी हम सब भारतवासियों को मिलकर ही निकालना है। भारतविरोधी आतंकवादियों के हाथों अगर भारतीयों का कत्लयाम यूँ ही वे रोक टोक चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब हमें यहूदियों की तरह वेघर होकर दुनियाभर में ठोकरें खाने को मजबूर होना पड़ेगा। समय की जरूरत है कि हम सब अपने हर तरह के छेटे-मोटे मतभेद भुलाकर देशभक्त संगठनों के साथ एकजुट होकर भारतीय सेना को सहयोग देकर भारतविरोधियों का सर्वनाश सुनिश्चित करें।

पिछले कल यानिके 27/03/12 को जिस तरह से दर्जनों CRPF जवानों का नक्सिलियों द्वारा कत्लयाम किया गया वो इन आतंकवादियों का इस तरह का कोई पहला हमला नहीं …इससे पहले भी ये वामपंथी आतंकवादी पश्चिम वंगाल में वांमपंथी सरकार के सहयोग से इसी तरह दर्जनों जवानों को जिन्दा जला चुके हैं ।

आपने देखा कि किस तरह सांसद और विधायक अपनी पोल खुलने के डर से एकजुट होकर पोलखोलने वालों पर हमला वोल देते हैं लेकिन भारतविरोधी आतंकवादियों द्वारा मारे जा रहे निर्दोष लोगों व सैनिकों को न्याय दिलवाने के लिए जब निर्णायक कार्यवाही की बात आती है तो ये दल कभी एकजुटता नहीं दिखाते ।

मतलब साफ है कि भारतीयों को न्याय पाने के लिए समाजिक सतर पर एकजुट होकर सुरक्षावलों का सहयोग लेकर भारतविरोधी आतंकवादियों के सफाए का अभियाना चलाना होगा वरना हम यूँ ही मरते-तड़पते रहेंगे और ये तथाकथित प्रतिनिधि हमारा खून चूस व वहाकर अपनी तिजोरियां भरते रहेंगे..

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा सम्मवत् 2069 शुक्रवार तदानुशार 23 मार्च 2012 आपके लिए मंगलमय हो…


हम भारतीय नव वर्ष का प्रारम्भ हिन्दू, चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से मानते  हैं क्योंकि ?
• इस तिथि से ब्रह्मा जी ने सृष्टि का निर्माण प्रारम्भ किया।
• मर्यादापुर्षोत्तम भगवान श्री रामचन्द्र जी का इस दिन राज्याभिषेक हुआ।
• इस दिन नवरात्रों का महान पर्व आरम्भ होता है।
• देव भगवान झूले लाल जी का जन्म दिवस ।
• महाराजा विक्रमादित्य द्वारा विक्रमी संवत का शुभारम्भ ।
• राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के संस्थापक डा. केशव बलिराम हेडगेवार जी का जन्म दिवस।
• महर्षि दयानन्द जी द्वारा आर्य समाज का स्थापना दिवस।
• संसार के अधिकतर देशों के बजट की इन्हीं दिनों(पखवाड़े में) शुरूआत होती
इसके अतिरिक्त ये वो वक्त है जब आप के शरीर में नए खून का ज्वार उठता है व आपके आसपास की प्रकृति भी नए कपड़े डालकर नव वर्ष शुरू होने का संकेत दुनिया के समझदार लोगों तक पहुंचाती है…

दूसरी तरफ बहुत से वेसमझ लोग ग्रेगेर्रियन कलैंडर के अनुशार 1 जनवरी को,  एक वयक्ति इसामशीह  के मरनोउपरांत खुशियां मनाकर उसे नव वर्ष का नाम देकर दुनिया को भ्रमित करने की पुरजोर कोशिस करते हुए मानबता का मखौल उड़ाते हैं अब ये आपके अपनी मर्जी है कि
आप अपनी आने वाली पिढ़ीयों को कैसा बनाना चाहते हैं
ऐसा

(अंग्रेजी नव वर्ष पहली जनवरी मनाने वाला)
या फिर ऐसा

(भारतीय नव वर्ष वर्षप्रतिपदा मनाने वाला)
ऐ वतन तेरी कसम ,कुर्बान हो जांएगे हम ।
                                           तेरी खातिर मौत से भी , जा टकरांएगे हम ।
संसकार एक दिन में न बनता है न बिगड़ता है यह एक सतत प्रक्रिया है आप कौन सी प्रक्रिया अपनाकर अपने बच्चों के हवाले करते हैं वही उनका संसकार निर्माण करेगा।
जागो हिन्दू जागो पहचाने अपने अन्दर वह रहे भारतीय खून को और इस खून से जुड़ी महान सच्चाईयों को… जिनमें से नव वर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से प्रारम्भ होता है…. भी एक है
आप सबको हिन्दू नबवर्ष के शुभ अवसर पर एक वार फिर हार्दिक शुभकामनायें
%d bloggers like this: